Recent Posts

ताका-झांकी

रामायण मेला को कलश यात्रा निकलेगी, होगा नागरिक अभिनंदन

2018-02-14 19:55:39 133
Sandhya Desh


ग्वालियर। हजीरा स्थित मनोरंजनालय मेला परिसर में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय रामायण मेले का शुभारंभ 17 फरवरी को सुबह 11 बजे भव्य कलश यात्रा से होगा। इस कलश यात्रा में भगवा पारंपरिक परिधानों में 3100 महिलाएं सिर पर मिट्टी के कलश लेकर चलेंगी। 
बैण्डबाजों के साथ निकलने वाली इस कलश यात्रा में देश भर से आए साधु संत एवं करीब 7 से 10 हजार धर्मप्रेमीजन पूरे रास्ते कलशयात्रा में साथ साथ चलेंगे। राष्ट्रीय रामायण मेले की इस कलश यात्रा के स्वागत के लिए पूरे मार्ग को विद्युत सजावट के साथ फूलों के बंदनवारों से सजाने की तैयारियां की जा रही हैं। रामायण मेला समिति ने जानकारी देते हुए बताया कि हजीरा के मनोरंजनालय परिसर में 17 से 23 फरवरी तक श्रीरामकथा एवं रामायण मेले का आयोजन किया जा रहा है। इस धार्मिक आयोजन का भव्य शुभारंभ 17 फरवरी को किलागेट से सुबह 11 बजे कलशयात्रा से होगा। कलश यात्रा में शामिल होने के लिए शहर भर से महिलाओं में उत्साह देखा जा रहा है। यात्रा में करीब 3100 से अधिक महिलाएं सिर पर कलश धारण किए हुए मंगल गीत गाते हुए चलेंगी। यात्रा में राष्ट्रीय रामायण मेले के संस्थापक अध्यक्ष एवं प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया सिर पर रामायण को रखकर सबसे आगे चलेंगे। इस कलशयात्रा का किलागेट से हजीरा होकर मनोरंजनालय परिसर तक पूरे रास्ते स्थानीय नागरिक पुष्पवर्षा करके अभिनंदन करेंगे। यात्रा में आ रहे संतों को देखने व सुनने के लिए शहर की धर्मप्रेमी जनता में उत्साह देखा जा रहा है। 
कलशयात्रा के मार्ग पर स्थानीय व्यापारियों एवं भक्तगणों ने सजावट शुरु कर दी है। जगह जगह अभिनंदन द्वार बनाकर कलशयात्रा के ऐतिहासिक स्वागत के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं। रामायण मेले में रामकथा वाचन प्रख्यात संत श्री प्रेमभूषण महाराज करेंगे। कथा 17 से सायं 4 से 6.30 तक होगी। कथा की पूर्णाहुति 23 फरवर को होगी साथ ही रात्रि 8 से 10 बजे तक श्रीरामलीला का मंचन वृंदावन के पंडित रामस्वरूप शास्त्री का रामलीला कला मंडल करेगा। आयोजन समिति ने अंचल के संत समाज एवं धर्मपे्रमी जनता से इस पुण्य धार्मिक आयोजन में उपस्थित होकर रामकथा के रसपान का आग्रह किया है।
 

Latest Updates