कार्यशाला में दी लेटेस्ट फिटनेस ट्रेंड पर ट्रेनिंग

2018-02-10 19:11:37 174
Sandhya Desh


ग्वालियर। लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान के खेल प्रबंधन व कोचिंग विभाग द्वारा पोषण, व्यायाम व वजन प्रबंधन पर आयोजित सात दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला में  आज प्रतिभागियों को प्रातःकालीन सत्र में सुश्री दीपा लक्ष्वानी ने पाॅवर योगा और सांयकालीन सत्र में डाॅ. रोहित बहुगुणा ने फिटनेस के लेटेस्ट ट्रेंड पर प्रतिभागियों को व्याख्यान व प्रशिक्षण दिया। प्रातःकालीन सत्र में सुश्री लक्ष्वानी ने प्रतिभागियों को पावर योगा के आसनों में सूर्य नमस्कार के आसन, वार्मिंग-अप, कुलिंग डाउन आदि व्यायामों को कराया। 
सुश्री लक्ष्वानी ने प्रतिभागियों को बताया कि व्यक्ति को नेक मुवमेंट पूर्णतः न करके हाॅफ मुन आकार में धीमे-धीमे करना चाहिए। पावर योगा पर सुश्री लक्ष्वानी ने प्रतिभागियों को बताया कि यह खिलाड़ियों के लिए एक स्वादिष्ट फुड की तरह हैं जिसके द्वारा खिलाड़ी अपनी स्टेमना, स्टेंथ, इंडयुरेंस, फ्लेक्सीबिल्टी व बैंलेस सुधार सकते हैं। पाॅवर योगा वजन कम करने का भी एक अच्छा विकल्प हैं क्योंकि यह एक ऐरोबिक एक्सरसाइज हैं जिसके द्वारा व्यक्ति एक घंटे के सत्र में 600-800 कैलोरी बर्न कर सकता हैं। यह चोट से उबरने में सहायक होने के साथ ही श्वसन तंत्रिका में भी सुधार लाने में सहायक हैं। 
पाॅवर योगा व योगा के अंतर पर बात करने सुश्री लक्ष्वानी ने प्रतिभागियों को बताया कि योगा एक एनोराबिक व पाॅवर योगा एरोबिक होता है। योगा में सूर्य नमस्कार के 12 आसन जबकि पाॅवर योगा में 15 आसन होते है। पाॅवर योगा करने से दो घंटे पहले व्यक्ति को आहार ग्रहण करना चाहिए। पाॅवर योगा की सहायता से व्यक्ति को कई रोगों जैसे- सर्वाइकल स्पाॅन्डिलाइटिस, साइटिका इत्यादि का उपचार कर सकता हैं। सांयकालीन सत्र में डाॅ. बहुगुणा ने प्रतिभागियों को किक बाक्सिंग के तहत मुक्केबाजी, किक करना, नी व एल्बो स्ट्राइक के साथ डिफंेस के तकनीक का प्रशिक्षण दिया।  

Latest Updates