महाशिवरात्रि को लेकर दुविधा, पढ़िये कब मनाएं

2018-02-09 09:45:16 491
Sandhya Desh


शिवभक्तों के लिए इस साल बड़ी उलझन की स्थिति बनी हुई है कि महाशिवरात्रि का त्योहार किस दिन मनाया जायेगा। महाशिवरात्री 13 फरवरी या 14 फरवरी को इसे लेकर बहस जारी है। लोगों में इस बात को लेकर दुविधा बरकरार है कि आखिर किस दिन को शिवरात्रि मनायी जाये और भगवान शिव की आराधना की जाये, परन्तु ऐसी उलझन में रहने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि आप दोनों में से किसी भी दिन कर सकते हैं। 13 फरवरी को महाशिवरात्रि का व्रत रखने वाले 14 फरवरी को प्रातः पारण करेंगे एवं 14 फरवरी को व्रत रखने वाले सायं काल चतुर्दशी तिथि में पारण कर लें।
शिवरात्रि का व्रत 13 फरवरी मंगलवार को रात्रि 10:22 बजकर मिनट के बाद चतुर्दशी तिथि लग जाएगी, जो 14 फरवरी बुधवार की रात 12: 17 बजे तक रहेगी। धर्म शास्त्रों में प्रदोष एवं अर्ध रात्रि में व्याप्त चतुर्दशी को ज्यादा महत्व दिया गया है। कुल मिलाकर देखा जाये तो इस वर्ष ऐसी परिस्थिति बन रही है कि महाशिवरात्रि का व्रत पर्व 13 एवं 14 फ़रवरी दोनों दिन किया जा सकता है, दोनों ही दिनों के पक्ष में पर्याप्त धर्मशास्त्रीय प्रमाण उपलब्ध हैं। महाशिवरात्रि के दिन भक्त सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि के बाद मंदिर जाकर भगवान शिव की पूजा करते हैं। इस श‍िव भक्‍त महादेव और देवी पार्वती के व‍िवाह की वर्षगांठ के तौर पर मनाते हैं। इस मौके पर मंदिरों में भगवान शिव की मूर्तियों का दूध, गुलाब जल, चंदन, दही, शहद, चीनी और पानी आद‍ि से अभिषेक किया जाता है। 

Latest Updates