आम आदमी की समृद्धि का बजट : नरेन्द्र तोमर

2018-02-01 18:43:06 138
Sandhya Desh


ग्वालियर से लोकसभा सांसद और केन्द्रीय पंचायतीराज, ग्रामीण विकास एवं खनन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि यह बजट गाँव, गरीब, किसान नौजवान और आम आदमी के समृद्धि का बजट है. बजट में सभी वर्गों, सभी क्षेत्रों को महत्व दिया गया है, विशेष रूप से देश की ग्रामीण आबादी और कृषक को सुविधाएँ उपलब्ध कराने, सशक्त और सम्रद्ध बनाने के लिए 14.34 लाख करोड़ रूपए खर्च करने का प्रावधान किया गया है.
उन्होंने कहा है कि बजट में कृषि के क्षेत्र में किसान को उत्पादन की लागत का 1.5 गुना मूल्य देने, “ऑपरेशन ग्रीन्स” के तहत किसानों एवं उपभोक्ताओं के हित में आलू, टमाटर और प्याज की कीमतों में तेज उतार चढ़ाव की समस्या से निपटने के लिए 500 करोड़ रूपए का प्रावधान और पशु एवं मत्स्य पालकों को किसानों क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराये जाने की घोषणा की गई है. उन्होंने कहा कि स्वसहायता समूहों को पिछले वर्ष के 42500 करोड़ रूपए की तुलना में इस वर्ष बजट में 75000 करोड़ रूपए के क्रेडिट मोबिलाइजेशन का प्रावधान करके ग्रामीण परिवारों को उन्नत बनाने का प्रयास भी इस बजट में परिलक्षित होता है. तोमर ने कहा है कि कृषि क्षेत्र के लिए वर्ष 2018-19 में 11 लाख करोड़ रूपए के संस्थागत ऋण का प्रावधान किया गया है. कृषि और ग्रामीण क्षेत्र के लिए किये गए प्रावधान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने के संकल्प का परिचायक है.
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला और प्रधानमंत्री सौभाग्य योजनाओं के माध्यम से क्रमशः 8 करोड़ बहनों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन और 4 करोड़ ग्रामीण परिवारों को नि:शुल्क विद्युत कनेक्शन देकर उनके जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए कारगर उपाय भी बजट में किया गया है.  उन्होंने कहा कि आवास योजना ग्रामीण में आवासहीन को घर उपलब्ध कराने की सरकार की प्रतिबद्धता बजट में परिलक्षित होती है. मार्च 2019 तक 1 करोड़ आवास निर्माण सुनिश्चित करने के लिए बजट में आवश्यक धनराशी का प्रावधान किया गया है. प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना प्रथम चरण, द्वितीय चरण के क्रियान्वयन के साथ ही तृतीय चरण की घोषणा करना ग्रामीण क्षेत्र में अधोसंरचना विकास की दृष्टि से केंद्र सरकार की ललक को दर्शाता है.
प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के अंतर्गत सीनियर सिटीजन को उनके द्वारा जमा किये गए पैसे पर 8 प्रतिशत ब्याज की सुनिश्चित्तता प्रदान करते हुए निवेश सीमा को 7.5 लाख से बढाकर इसे दोगुना कर दिया गया है.  श्री तोमर ने कहा कि देश के 10 करोड़ रूपए गरीब परिवारों के 50 करोड़ रूपए लोगों के लिए “आयुष्मान भारत” योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपया प्रति परिवार प्रति वर्ष चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करना सरकार का अभूतपूर्व फैसला है. इस बजट में देश में अधोसंरचना विकसित करने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग, सागरमाला, भारत माला जैसी परियोजनाओं पर लगभग 6 लाख करोड़ का आबंटन कर एक ओर भारत को विकसित करने का प्रयत्न किया जा रहा है वहीँ दूसरी ओर सरकार का यह कदम बड़ी मात्रा में रोजगार के अवसर सृजित करने वाला है.
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार “Ease of Doing Business” से आगे बढकर Ease of living पर जोर दे रही है. यह बजट देश को आगे बढाने वाला, गरीब के जीवन स्तर में बदलाव लाने वाला, युवा को रोजगार देने वाला, महिला को सशक्त करने वाला, मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्किल इंडिया के माध्यम से नए भारत के निर्माण के मार्ग को प्रशस्त करने वाला बजट है.

Latest Updates