Recent Posts

ताका-झांकी

अल्ट्रासाउण्ड सेंटर को आदर्श बनायें : कलेक्टर

2018-01-13 19:40:22 137
Sandhya Desh


ग्वालियर । पीसी-पीएनडीटी एक्ट के सभी प्रावधानों पर अपने-अपने अल्ट्रासाउण्ड सेंटर में अमल सुनिश्चित करें, जिससे पूरे देश में संदेश जाए कि ग्वालियर के अल्ट्रासाउण्ड सेंटर पीसी-पीएनडीटी एक्ट के लिहाज से आदर्श हैं। साथ ही अल्ट्रासाउण्ड सेंटर पर पीसी-पीएनडीटी एक्ट का पालन कराने के लिये प्रशासन को कड़ाई की जरूरत न पड़े। यह बात कलेक्टर राहुल जैन ने पीसी-पीएनडीटी एक्ट के क्रियान्वयन को लेकर आयोजित हुई अल्ट्रासाउण्ड सेंटर संचालकों की कार्यशाला में कही। 
शनिवार को यहाँ तानसेन रेसीडेंसी में आयोजित हुई कार्यशाला में कलेक्टर ने कहा कि अल्ट्रासाउण्ड सेंटर स्वत: ही ट्रैकिंग सिस्टम का संधारण करायें और पीसी-पीएनडीटी एक्ट के अन्य प्रावधानो को आदर्श रूप में लागू करें। उन्होंने यह भी कहा कि अल्ट्रासाउण्ड सेंटर बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिये भी आगे आएँ। वे स्कूल व आंगनबाड़ी केन्द्र को गोद में लेकर समाज के लिये उदाहरण प्रस्तुत कर सकते हैं। इससे समाज में अल्ट्रासाउण्ड सेंटर के प्रति भरोसा बढ़ेगा और देशभर में स्त्री-पुरूष लिंगानुपात को लेकर ग्वालियर की सकारात्मक छवि भी निर्मित होगी। यह कार्यशाला खासतौर पर एमपी ऑनलाइन सॉफ्टवेयर के जरिए ऑनलाइन फॉर्म-एफ भरने में आ रहीं तकनीकी दिक्कतों को दूर करने के मकसद से आयोजित की गई थी। कलेक्टर ने कार्यशाला में निर्देश दिए कि जब तक एमपी ऑनलाइन सॉफ्टवेयर ठीक ढंग से काम नहीं करता, तब तक पुराने सिस्टम अर्थात “हमारी लाड़ली” सॉफ्टवेयर से फॉर्म-एफ भेजे जाएँ। 
पीसी-पीएनडीटी एक्ट के जिले के नोडल अधिकारी डॉ. अमित रघुवंशी तथा एमपी ऑनलाइन के तकनीकी अधिकारी आशीष सक्सेना ने सॉफ्टवेयर से संबंधित तकनीकी समस्याओं का समाधान किया। इस मौके पर पीसी-पीएनडीटी एक्ट की जिला सलाहकार समिति की सदस्य श्रीमती मीना शर्मा व विनय हासवानी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस एस जादौन तथा सिविल सर्जन डॉ. व्ही के गुप्ता सहित विभिन्न अल्ट्रासाउण्ड सेंटर के संचालकगण मौजूद थे। 

Latest Updates