BREAKING!
  • रोशनी टीम हॉफ मैराथन में शामिल होने रवाना
  • योगा खूबसूरत जीवन को जीने का रास्ता दिखाता है: शुभांगी भसीन
  • स्काउट गाइड के बेसिक प्रशिक्षण में हाइक आयोजित की गई
  • हत्या के आरोपी को भागने में मदद करने वाले भाई को पकड़ा
  • गौवंश को दफनाने वाले 06 बदमाशों को पुलिस ने पकडा
  • सिंधिया 21 अक्टूबर को ग्वालियर आऐंगे
  • आईटीएम में इबारत-11 की महफिल 20 को
  • 22 अक्‍टूबर को बैंकों में हड़ताल
  • हिंदुओं का नारीवाद
  • अतिक्रमण हटाने पहुंचे प्रशासन के सामने विधायक मुन्नालाल अडे

Sandhyadesh

आज की खबर

इंदौर समिट से पहले शुभ संकेत, रिलायंस डिफेंस बडा निवेश करेगी पडौरा में

08-Oct-19 116
Sandhyadesh


(विनय कुमार अग्रवाल)
ग्वालियर। मध्यप्रदेश में औद्योगिक निवेश के क्षेत्र में कमलनाथ सरकार शुभ साबित हो रही है। राज्य में अब औद्योगिक निवेश में रिलांयस उद्योग समूह (अनिल अंबानी) ग्रुप की आमद हो रही है। बडी बात यह है कि अनिल अंबानी की कंपनी मध्यप्रदेश  में अब तक का सबसे बडा उद्योग आम्र्स एम्युनेशन के क्षेत्र में लगाने की तैयारी है। अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस ने पडौरा शिवपुरी के समीप ७०० एकड़ जमीन पसंद कर ली है। और उसके लिये आवंटन मांग पत्र व अपनी शर्तों का पत्र भी दे दिया है। 
मध्यप्रदेश में १८ अक्टूबर की इंदौर समिट से पहले ही उसके शुभ परिणाम आने शुरू हो गये हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ की औद्योगिक उदार नीति के तहत अनिल अंबानी का रिलायंस उद्योग ग्वालियर संभाग के शिवपुरी जिले में अपनी उद्योग लगाने की तैयारी कर रहा है। बीते दिनों रिलायंस कंपनी के अधिकारियों के एक दल ने शिवपुरी में जमीन चिन्हित कर ली है। इस जमीन पर वह लगभग १२०० करोड (प्रारंभिक अनुमान) की लागत से आम्र्स एम्युनेशन  (गोला बारूद) का कारखाना लगाना चाहते हैं। 
यह जमीन शिवपुरी झांसी हाइवे पर पडौरा के पास है। पहले यह जमीन भेड फार्म के नाम से जानी जाती थी। कुल ८५० एकड़ की यह भेड फार्म की जमीन अब मध्यप्रदेश शासन ने अपने कब्जे में ली है। यही जमीन रिलायंस डिफेंस के दल को पसंद आई है। रिलायंस की टीम ने लगभग एक दर्जन स्थान शिवपुरी के आस पास देखे थे, तब उन्हें यह जगह पसंद आई है। गोल्डन कोरीडोर के पास इस जमीन को पसंद करने में रिलायंस ने इसलिये प्राथमिकता दिखाई है कि यहां एबी रोड , इलाहबाद, उदयपुर गोल्डन कोरीडोर लगा हुआ है, जिसमें कंपनी को कच्चे माल से लेकर उत्पादों के आयात-निर्यात में मार्ग की सुगमता मिलेगी। रिलायंस डिफेंस से लगभग ४५० लोगों को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार हासिल होगा। 
विशेष बात यह है कि रिलायंस डिफेंस कंपनी ने जमीन आवंटन के लिये अपना मांग पत्र आईआईडीसी को सौंप दिया है। इस पत्र में रिलायंस डिफेंस कंपनी ने राज्य सरकार से जमीन की दरों को कम किये जाने सहित कुछ अन्य मांगे रखी हैं। यदि राज्य सरकार रिलायंस की मांग स्वीकार कर लेती है , तो संभावना बन रही है कि १८ अक्टूबर को इंदौर समिट में अनिल अंबानी स्वयं उपस्थित रहकर करार  (एमओयू) पर साइन कर दें। 
विशेष बात यह है कि इस जमीन पर आईआईडीसी को विकास कार्य कराने का भी करोडों का खर्चा बच सकता है। ८५० एकड़ की भेड फार्म की जमीन में से ७०० एकड़  अनिल अंबानी की कंपनी ने ही मांग ली है। इसी कारण रिलायंस डिफेंस के अधिकारियों ने लीज रेंट की दर भी कम किये जाने का अनुरोध आईआईडीसी व राज्य शासन से किया है। 
आईआईडीसी के प्रबंध निदेशक सुरेश कुमार शर्मा ने सत्ता सुधार से बातचीत में स्वीकार किया कि रिलायंस डिफेंस कंपनी अनिल अंबानी समूह ने एम्युनेशन कारखाने के लिए जमीन पसंद कर ली है। उनकी मांगें आई हैंजिन्हें हमने राज्य सरकार के पास भेज दिया है। शर्मा ने कहा कि शिवपुरी के पास रिलायंस डिफेंस के आने से निश्चित तौर पर अंचल का सर्वांगीण विकास होगा और हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। 

इनका कहना है 
रिलायंस डिफेंस ने ७०० एकड जमीन चिन्हित कर ली है। उन्होने हमें जमीन पसंद पर अपनी रजामंदी बता दी है। उनकी कुछ शर्तें हैं जिन पर शासन स्तर पर विचार कर अपना निर्णय लेगा 
सुरेश कुमार शर्मा
आईएएस 
एमडी आईआईडीसी 

2019-10-20aaj