BREAKING!
  • रोशनी टीम हॉफ मैराथन में शामिल होने रवाना
  • योगा खूबसूरत जीवन को जीने का रास्ता दिखाता है: शुभांगी भसीन
  • स्काउट गाइड के बेसिक प्रशिक्षण में हाइक आयोजित की गई
  • हत्या के आरोपी को भागने में मदद करने वाले भाई को पकड़ा
  • गौवंश को दफनाने वाले 06 बदमाशों को पुलिस ने पकडा
  • सिंधिया 21 अक्टूबर को ग्वालियर आऐंगे
  • आईटीएम में इबारत-11 की महफिल 20 को
  • 22 अक्‍टूबर को बैंकों में हड़ताल
  • हिंदुओं का नारीवाद
  • अतिक्रमण हटाने पहुंचे प्रशासन के सामने विधायक मुन्नालाल अडे

Sandhyadesh

आज की खबर

सेठ श्री गोपालदास जी स्मृति सेवा संस्थान द्बारा विभूति सम्मान समारोह आयोजित

17-Sep-19 62
Sandhyadesh


ग्वालियर| म.प्र. चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री के संरक्षक सदस्य एवं मानेसवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल के पिताजी स्वर्गीय गोपालदास जी अग्रवाल की प्रथम पुण्यतिथि पर सेठ श्री गोपालदासजी स्मृति सेवा संस्थान द्बारा विभूति सम्मान समारोह का आयोजन चेम्बर ऑफ कॉमर्स में सायं ५ बजे से किया गया| कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री, म.प्र. शासन-श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, विशिष्ट अतिथि के रूप में चेम्बर के पूर्व अध्यक्षद्बय-डॉ. वीरेन्द्र गंगवाल, श्री श्रीकृष्णदास गर्ग एवं चेम्बर अध्यक्ष-विजय गोयल सहित काफी संख्या में शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे|  
सेठ श्री गोपालदासजी स्मृति सेवा संस्थान द्बारा विभूति सम्मान समारोह कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने कहाकि सेठ श्री गोपालदास जी अग्रवाल हिन्दी मास की तिथि अनुसार आज ही के दिन उनका हमसे बिछोह हुआ| यह शास्वत सत्य है कि जो इस संसार में आता है, उसे इस संसार से वापिस जाना है, परंतु किसी व्यक्ति के जाने के बाद उसका स्मरण और पहचान इससे होती है कि वह अपने परिवार व समाज के लिए  क्या छोड़कर गया| आपने कहा कि मेरे पिताजी हमको संस्कार दिये, अनीति के खिलाफ संघर्ष करना सिखाया है|  उनके विचार और आदर्श हमारे जीवन को आज भी दिशा देते हैं| विगत वर्ष में हर समय अपने विचारों और आदर्शों के रूप में पिताजी हमारे बीच रहे हैं| उनके प्रथम पुण्य स्मरण पर आज हम विधि, चिकित्सा एवं समासेवा की विभूतियों को सम्मानित कर रहे हैं| 
विशिष्ट अतिथि चेम्बर के पूर्व अध्यक्ष-श्री श्रीकृष्णदास गर्ग ने कहा कि स्व. सेठ गोपालदासजी एक प्रतिष्ठित परिवार से थे| वे कभी किसी से डरते नहीं थे, उनमें कार्य के प्रति हमेशा उत्साह रहता था और जो ठान लेते थे, वह करके रहते थे| चेम्बर की पेट्रोल पंप वाली भूमि के न्यायालयीन प्रकरण में उन्होंने प्रमुख भूमिका निभाई और चेम्बर को उसमें विजयश्री दिलाई| 
विशिष्ट अतिथि चेम्बर के पूर्व अध्यक्ष-डॉ. वीरेन्द्र कुमार गंगवाल ने कहा कि उनमें कई सारी खूबियां थीं पर मैं आज उनकी दो खूबियों को बताना चाहूंगा पहली-परफेक्शन, किसी भी को कार्य पूर्ण परफेक्शन के साथ करते थे| दूसरी-सिन्सियर, किसी भी कार्य पूर्ण निष्ठा व ईमानदारी से करते थे| उनकी इन खूबियों के कारण ही चेम्बर की वेशकीमती जमीन हमें वापिस मिली| 
चेम्बर अध्यक्ष-श्री विजय गोयल ने कहा कि श्रद्घेय गोपालदासजी अग्रवाल जी के चरणों में कोटि-कोटि नमन करता हूं| उनकी प्रथम पुण्य तिथि पर यह कार्यक्रम प्रथम बार आयोजित किया गया है, यह आगे भी जारी रहे, इसकी मैं कामना करता हूं| श्रद्घेय गोपालदासजी किसी भी चीज से कम्प्रोमाइज नहीं करते थे| मेरे मानसेवी सचिव के कार्यकाल में चेम्बर की जमीन हमें माननीय न्यायालय से वापिस मिली| चेम्बर ने उनके इस योगदान के लिए उन्हें चेम्बर का संरक्षक सदस्य बनाया| उनकी कार्य के प्रति लगनशीलता और निस्वार्थ भाव आज उनके पुत्र डॉ. प्रवीण अग्रवाल में भी परिलक्षित होता है वह भी निस्वार्थ भाव से लोगों की सेवा करते हैं| प्रवीणजी को आज मेला प्राधिकरण के उपाध्यक्ष का पद मिला है मेरा मानना है कि वह और ऊंचाईयां प्राप्त करेंगे| मैं उनकी सफलता के लिए ईश्‍वर से कामना करता हूं| 
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मध्यप्रदेश शासन के कैबिनेट मंत्री-श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अपने उद्बोधन में कहा कि श्रद्घेय गोपालदासजी एक अच्छे समाजसेवी थे, उनकी अभिलाषा को पूरी आज उनका परिवार कर रहा है| प्रवीणजी लगातार समाजसेवा कर रहे हैं| इसलिए वे दो बार चेम्बर के मानसेवी सचिव बने और आज उन्हें मेला उपाध्यक्ष का पद मिला है| कुछ लोग पद से जाने जाते हैं और कुछ लोगों की वजह से पद को जाना जाता है| हर व्यक्ति को चाहिए कि वह अपनी आजीविका की पूर्ति के साथ ही समाज के लिए अपने कर्तव्यों की पूर्ति करे| आपको क्या बनना है, यह निर्णय आपको करना चाहिए| हम सभी निर्णय लें कि हम सभी ग्वालियर के लिए कुछ करना है| मैं आपके साथ कदम से कदम मिलाऊंगा, यह आश्‍वस्त करता हूं| 
संस्थान के प्रथम कार्यक्रम में विधि, चिकित्सा एवं समाजसेवा की विभूतियों को सम्मानित किया गया| कार्यक्रम में पूर्व महाधिवक्ता- आर.डी. जैन, वैध  वेणीमाधव शास्त्री, वरिष्ठ अभिभाषक- पुत्तनलाल जैन, वरिष्ठ चिकित्सक-डॉ. जे.एस. नामधारी, वरिष्ठ समाजेसवी- गिरधारीलाल गोयल को शॉल-श्रीफल एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया| 
सम्मानत विभूतियों में शामिल वैध  वेणीमाधव शास्त्री ने अपने उद्बोधन में कहा कि गोपालदासजी के सम्मान में आयोजित इस कार्यक्रम के लिए मैं उनके परिवारजन को साधुवाद देता हूं| यह प्रेरणादायी कार्यक्रम प्राचीनकाल से होते आये हैं| गोपालजी से मेरा पारिवार संबंध रहा है| वे जो कहते थे, उस वचन को निभाते थे| उनकी यह आदत रघुकुलप्रीत की तरह थी| 
पूर्व महाधिवक्ता- आर.डी. जैन ने इस अवसर पर कहा कि इस कार्यक्रम व सम्मान के लिए गोपालदासजी के परिवार को साधुवाद| गोपालदासजी के सद्गुणों का ही असर है कि आज उनकी प्रथम पुण्यतिथि पर आशीर्वाद स्वरूप प्रवीण को मेला उपाध्यक्ष का पद मिला है|  गोपालदासजी से दृढ विश्‍वासी थे और जो लक्ष्य तय करते थे, उसे पाकर ही रहते थे| आज के इस युग में जब बच्चे अपने माता-पिता को ओल्ड एज होम में छोड़कर आ रहे हैं, इस युग में उनके पुत्रों का इस कार्यक्रम का प्रयास श्रेयस्कर है| 
कार्यक्रम का संचालन निर्मल जैन द्बारा एवं आभार  ग्वालदास अग्रवाल द्बारा किया गया|

2019-10-20aaj