BREAKING!
  • विश्व हिन्दू परिषद की प्रांत बैठक शिवपुरी में आयोजित
  • बेहतर शोध के लिएमैथमेटिकल स्किल को सुधारने पर करें फोकस-प्रो. कुशेंद्र मिश्रा
  • आईटीएम ग्लोबल स्कूल में पाॅक्सो एक्ट पर वर्कशाॅप आयोजित
  • रायपुर की श्रिया ने किया परीक्षा पे चर्चा का संचालन
  • अयोध्या में राम मंदिर निर्माण प्रबंधन में हमें मुख्य भूमिका दी जाए: निर्मोही अखाड़ा
  • गंदगी देख भड़के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, फावड़ा लेकर खुद समेटने लगे कचरा
  • निर्भया केस : दोषी पवन की याचिका सुप्रीम कोर्ट में भी खारिज
  • परीक्षा पे चर्चाः सिर्फ परीक्षा के अंक जिंदगी नहीं-पीएम मोदी
  • जांबाज विधायक
  • कहीं पे निगाहें: कहीं पर निशाना

Sandhyadesh

आज की खबर

मकर संक्रांति कल: सूर्य पहुंचेंगे शनि के घर

14-Jan-20 33
Sandhyadesh

ग्वालियर। मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा। 14 जनवरी की रात्रि 2 बजकर 6 मिनट पर सूर्यदेव अपने पुत्र शनि के घर मकर राशि में पहुंचेंगे। इस कारण इस बार मकर संक्रांति का पुण्य पर्वकाल 15 जनवरी को रहेगा।
शहर के ज्योतिषाचार्यों के अनुसार सूर्यदेव अपने पुत्र शनि के घर मकर राशि में इस बार 10 दिनों तक रहेंगे। शनिदेव के घर मकर राशि में सूर्यदेव के पहुंचने पर वहां शनिदेव भी मिलेंगे। ऐसा मौका 30 साल बाद आ रहा है। 10 दिन तक सूर्य और शनिदेव एक ही घर में साथ-साथ रहेंगे । इसके बाद शनिदेव मकर राशि को छोड़कर 24 जनवरी को अपने दूसरे घर यानि की कुंभ राशि में चले जाएंगे।
मकर संक्रांति के साथ ही दिन अब तिल-तिल यानि धीमे-धीमे बड़े होने लगेंगे। जबकि रात धीरे-धीरे छोटी होने लगेंगी। साथ ही मकर संक्रांति के साथ ही सर्दी का कम होना भी प्रारंभ हो जाएगा। 14 जनवरी की रात्रि 2 बजकर 6 मिनट पर धनु से सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे। दूसरे दिन यानि 15 जनवरी को प्रातःकाल पुण्य पर्वकाल सुबह 7 बजकर 19 मिनट से प्रांरभ होकर 12 बजकर 31 मिनट तक रहेगा। विशेष पुण्य पर्वकाल सुबह 7 बजकर 19 मिनट से सुबह 9 बजकर 30 मिनट तक रहेगा। यह स्नान और दान पुण्य करने का श्रेष्ठ समय होता है। इस दिन तिल, खिचड़ी, गुड़, कंबल आदि दान किया जाता है।

2020-01-20aaj