BREAKING!
  • पुलिस के प्रति संवेदनशील और अपराधियों के लिये सख्त सरकार
  • कलेक्टर एवं नगर निगम आयुक्त ने किया गौशाला का निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा निर्देश
  • वर्ष-2019 में अंतिम नेशनल लोक अदालत का सफल आयोजन
  • बेहट में आयोजित होने वाले कार्यक्रम की तैयारियों का जिला पंचायत सीईओ ने लिया जायजा
  • प्रजापिता ब्रह्मा बाबा का 143वीं जयंती समारोह 15 को
  • ना तो कर्जा माफ हुआ, ना ही बेरोजगारों को भत्ता मिला, न ही मुख्यमंत्री साफ हुआ -देवेश शर्मा
  • जागरूकता की कमी से होती है महिलाओं में रक्त अल्पता :डॉ. ममता शुक्ला
  • लायनेस क्लब का 16वां तीन दिवसीय समागम 31 जनवरी 2020 से ग्वालियर में
  • पडाव पुल के पास अवैध निर्माण को प्रशासन ने ढहाया
  • मोदी ने गंगा में नौकायन कर सफाई का निरीक्षण किया

Sandhyadesh

आज की खबर

पंकजा मुंडे ने BJP छोड़ने के दिए संकेत

02-Dec-19 23
Sandhyadesh


महाराष्ट्र की राजनीति में अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए हलचल मचाने वाली भाजपा नेता और पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे ने अब ट्विटर पर सनसनी मचा दी है। उन्होंने अपने ट्विटर बायो से अपनी पार्टी के नाम को हटा दिया है। इसके बाद उन्हें लेकर चल रही अटकलों ने तेजी पकड़ ली है। वहीं माना जा रहा है कि वह शिवसेना में शामिल हो सकती हैं इसका इशारा शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने दिया है। इससे पहले फेसबुक पोस्ट के जरिए उन्होंने कहा था कि वह जल्द कोई फैसला लेंगी।

फेसबुक पर बवाल के बाद ट्विटर पर किया बदलाव

पंकजा ने जब से फेसबुक पोस्ट किया था तभी से उनकी नाराजगी के बारे में बातें होने लगीं थी। इसके बाद से ही सवाल उठ रहे थे कि क्या वह देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ खुलकर अपना गुस्सा जाहिर करेंगी? सूत्रों का कहना है कि वरिष्ठ नेताओं के सामने अपनी समस्या को रखते समय उनका सारा गुस्सा फडणवीस के खिलाफ रहा है। ऐसे में उन्होंने फेसबुक के जरिए बड़ा फैसला लेने की बात की और अब ट्विटर बायो से पार्टी का नाम हटा लिया है। जिससे अफवाहें और चर्चाएं तेज हो गई हैं।

8-10 दिन में लूंगी फैसला

पंकजा ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि 12 दिसंबर को गोपीनाथ मुंडे की बरसी पर सभी समर्थकों से आवेदन है कि वे बैठक में शामिल हों। बदलते सियासी माहौल में अपनी ताकत पहचानने की जरूरत है, 8-10 के भीतर ही बड़ा फैसला लूंगी। उन्होंने लिखा कि चुनाव के बाद, नतीजें आए। मेरे हारने के कुछ समय बाद, मैंने मीडिया में जाकर इसे स्वीकार कर लिया और अनुरोध किया कि इसके लिए किसी को जिम्मेदार न ठहराया जाए। सारी जिम्मेदारी मेरी है। बता दें कि पंकजा मुंडे ने परली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था। वह एनसीपी नेता और चचेरे भाई धनंजय मुंडे से हारी हैं।

2019-12-15aaj