BREAKING!
  • पुलिस के प्रति संवेदनशील और अपराधियों के लिये सख्त सरकार
  • कलेक्टर एवं नगर निगम आयुक्त ने किया गौशाला का निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा निर्देश
  • वर्ष-2019 में अंतिम नेशनल लोक अदालत का सफल आयोजन
  • बेहट में आयोजित होने वाले कार्यक्रम की तैयारियों का जिला पंचायत सीईओ ने लिया जायजा
  • प्रजापिता ब्रह्मा बाबा का 143वीं जयंती समारोह 15 को
  • ना तो कर्जा माफ हुआ, ना ही बेरोजगारों को भत्ता मिला, न ही मुख्यमंत्री साफ हुआ -देवेश शर्मा
  • जागरूकता की कमी से होती है महिलाओं में रक्त अल्पता :डॉ. ममता शुक्ला
  • लायनेस क्लब का 16वां तीन दिवसीय समागम 31 जनवरी 2020 से ग्वालियर में
  • पडाव पुल के पास अवैध निर्माण को प्रशासन ने ढहाया
  • मोदी ने गंगा में नौकायन कर सफाई का निरीक्षण किया

Sandhyadesh

आज की खबर

मुख्यमंत्री खरीदी केंद्र पहुंचे, धान की गुणवत्ता परखी, किसानों को सुविधा देने के निर्देश

01-Dec-19 29
Sandhyadesh

रायपुर।छत्तीसगढ़ में रविवार से धान खरीदी की सरकारी प्रक्रिया शुरू हो गई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पहले दिन  दुर्ग जिले के पाटन विकासखंड की सहकारी समिति औंधी और जामगांव एम जाकर जायजा लिया। सीएम ने  किसानों से कहा- आपके लिए खरीदी केंद्रों में जरूरी सुविधाएं देखने आया हूँ। आपकी सभी सुविधाओं का सरकार ध्यान रखेगी। यहां सरना प्रजाति का धान था। मुख्यमंत्री ने रगड़कर देखा। कहा इसकी गुणवत्ता अच्छी है। मुख्यमंत्री ने धान खरीदी के लिए सभी जरूरी इंतजाम करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो और खरीदी केन्द्रों में पर्याप्त मात्रा में बारदाना उपलब्ध कराया जाए।
राज्य में धान खरीदी 
राज्य के सभी जिलों में धान का उपार्जन छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ (मार्कफेड) द्वारा किया जा रहा है। पहले से मौजूद 1 हजार 995 खरीदी केन्द्रों सहित इस वर्ष शुरू किए गए 33 नए खरीदी केन्द्रों में किसानों का धान लिया जा रहा है। खरीफ वर्ष 2019-20 में प्रदेश के 19 लाख 56 हजार किसानों ने पंजीयन कराया। पिछले साल से यह संख्या 16 लाख 97 हजार थी। धान की खरीदी एक दिसम्बर से 15 फरवरी 2020 तक की जाएगी। इस बार राज्य के किसानों से 85 लाख मैट्रिक टन धान खरीदी करने का अनुमान है। 





2019-12-15aaj