परिणामों के गुणाभाग में भाजपाई, चिंता भी

अबकी बार भाजपाई मध्यप्रदेश के परिणामों को लेकर पशोपेश में है। इसलिए गुणाभाग व टालमटोल का दौर जारी है। इसके अलावा फूलछाप नेता मतपेटियों को लेकर भी 15 साल के बाद पहली बार चिंतित नजर आ रहे है।
एमपी में 15 साल सरकार चलाने वाली भाजपा दिसंबर में सत्ता से बेदखल क्या हुई अब उनके नेता दम भरकर यह भी नहीं बता पा रहे है कि कितने सीटें आ रही है। सभी दबी आवाज में सिर्फ इतना कह रहे है कि श्री नरेन्द्र मोदी जी फिर से पीएम बनेंगे। परंतु मध्यप्रदेश में कितनी लोकसभा सीटें जीतेंगे इससे पल्ला झाड़ते नजर आ रहे है। कभी राज्य में 200 पार का नारा देने वाली पार्टी के नेता कुछ थके और लटके चेहरों के साथ प्रचार में दिखे। सभी अपनी-अपनी प्रतिष्ठा बचाने बस मुंह दिखाई रस्म तक सीमित रहे। 15 साल सत्ता सुख भोगने वाली पार्टी के नेताओं के मुख से पहली बार यह भी सुनाई दिया कि नाथ सरकार मतपेटी बदलवा सकती है।
पहली बार फूलछापियों ने मतपेटियों पर आशंका जाहिर की है। फूलछाप नेताओं का कहना था कि ग्वालियर में नाथ सरकार मतपेटियों को बदलवा सकती है। जय हो भाजपाईयों की कि आखिर मतपेटियों की 15 साल बाद चिंता की और मतपेटियां बदलवाने तक की सरकार पर आशंका जताई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *